अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं

अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं
कोई ना काम तेरा होगा करोगे जोभी
अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं

दया से उनके ही ये सांस तेरा चलता है
उनके आशीष से ही जीव सारा पलटा है
उनका ही ध्यान धरो उनका ही सुमिरन करलो
दो घडी बैठ के रघुनाथ का भजन करो
वो ना चाहे तो बनता है कोई बात नहीं
कोई ना काम तेरा होगा करोगे जोभी

अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं
कोई ना काम तेरा होगा करोगे कोई
अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं

उनपे विश्वाश किया है तो शंका न करो
दुःख है तो सुख भी मिलेगा कभी चिंता न करो
सुख भी देते है वही दुःख भी देते
जितने है जीव जगत में सभी को देते है

उनकी भक्ति के सिवा कुछ भी चले साथ नहीं
कोई ना काम तेरा होगा करोगे कोई

अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं
कोई ना काम तेरा होगा करोगे जोभी
अगर रघुनाथ का है तेरे सर पे हाथ नहीं

Leave a Reply