अपने गुरु से क्या मांगू

अपने गुरु से क्या मांगू
बिन मांगे सब कुछ मिल गया।।

माता मिली है मुझे पिता मिले है
सुन्दर सा भैया मिल गया
बिन मांगे सब कुछ मिल गया।।

सास मिली है मुझे ससुर मिला है
सुन्दर सा बलमा मिल गया
बिन मांगे सब कुछ मिल गया।।

चूड़ी मिली है मुझे बिंदी मिली है
और मंगल सूत्र मिल गया
बिन मांगे सब कुछ मिल गया।।

बेटा मिला मुझे बेटी मिली है
और ठिकाना गुरु का मिल गया
बिन मांगे सब कुछ मिल गया।।

अपने गुरु से क्या मांगू
बिन मांगे सब कुछ मिल गया।।

This Post Has 2 Comments

  1. Pingback: मैं तो जपु सदा तेरा नाम सतगुरु दया करो – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  2. Pingback: गुरु मनवाँ के तार मोरा जोड़ दियो रे – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply