अपने दुःख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले

अपने दुःख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले,
दुसरो के दर्द में आंसू बहाना सीख ले,
अपने दुःख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले।।

जो खिलने में मजा हो आप खाने में नहीं,
जो खिलने में मजा है आप खाने में नहीं,
जिंदगी में तू किसी के काम आना सीखले,
दुसरो के दर्द में आंसू बहाना सीखले,
अपने दुःख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले।।

कर गरीबो का भला और बे नसीबो पर रेहम,
बे नसीबो पर रेहम बे नसीबो पर रेहम,
सेवा में भगवन है तू दर्शन पाना सीखले,
दुसरो के दर्द में आंसू बहाना सीखले,
अपने दुःख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले।।

करम तेरा हो भलाई धर्म तेरा प्रेम हो,
धर्म तेरा प्रेम हो धर्म तेरा प्रेम हो,
वीर इस जीवन में तू जीवन बनाना सीखले,
दुसरो के दर्द में आंसू बहाना सीखले,
अपने दुःख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले।।

Leave a Reply