आओ भक्तो तुम्हे सुनाये महिमा मंगल वार की

आओ भक्तो तुम्हे सुनाये महिमा मंगल वार की
पवन पुत्र बजरंग बलि श्री राम के सेवादार की।।

सातो दिन है पावन है लेकिन मंगल अति शुभकारी है
विघना विनाशक कष्ट निवारक मंगल मंगल कारी है
मंगल दिन है हनुमान का हनुमान सर्वोत्तम है
जिनके ह्रदय में क्षड़ प्रति क्षण मर्यादा परुषोत्तम है।।

हनुमान की शरण जो आता मंगल मई हो जाता है
कष्ट कलेश मिटे जीवन सुख वैभव वो पाता है सुखमय हो जाता है
मंगल मई हनुमान की पावन कथा मैं सुनाता हूँ
हनुमान के ह्रदय का उत्तम रूपम मैं दिखता हूँ।।

दिल्ली में एक धाम है पावन वीर बलि हनुमान का
कष्ट निवारण करते है हनुमंत हर इंसान की
सिद्ध पीठ है हनुमान की सिद्ध बलि कहलाते है
वह पे आने वालो के कष्ट सभी मिट जाते है।।

आओ भक्तो तुम्हे सुनाये महिमा मंगल वार की
पवन पुत्र बजरंग बलि श्री राम के सेवादार की।।

Latest bhajans and lyrics in hindi songs and lyrics collections

Hanuman ji Bhajan Lyrics

Leave a Reply