आज बृज में होली है रे रसिया होली भजन

आज बृज में होली है रे रसिया,

होरी रे रसिया,

बरजोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

घर घर से ब्रज बनिता आई,

घर घर से ब्रज बनिता आई,

कोई सांवर कोई गोरी है रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

कौन गाँव के कुंवर कन्हैया,

कौन गाँव के कुंवर कन्हैया,

कौन गावं राधा गोरी है रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

नन्द गावं के कुंवर कन्हैया,

नन्द गावं के कुंवर कन्हैया,

बरसाने की राधा गोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

कौन वरण के कुंवर कन्हैया,

कौन वरण के कुंवर कन्हैया,

कौन वरण राधा गोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

श्याम वरण के कुंवर कन्हैया,

श्याम वरण के कुंवर कन्हैया,

गौर वरण राधा गोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

इत ते आए कुंवर कन्हैया,

इत ते आए कुंवर कन्हैया,

उत ते राधा गोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

कौन के हाथ कनक पिचकारी,

कौन के हाथ कनक पिचकारी,

कौन के हाथ कमोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

कृष्ण के हाथ कनक पिचकारी,

कृष्ण के हाथ कनक पिचकारी,

राधा के हाथ कमोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

उडत गुलाल लाल भए बादल,

उडत गुलाल लाल भए बादल,

मारत भर भर झोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

अबीर गुलाल के बादल छाए,

अबीर गुलाल के बादल छाए,

धूम मचाई रे सब मिल सखिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

चन्द्र सखी भज बाल कृष्ण छवि,

चन्द्र सखी भज बाल कृष्ण छवि,

चिर जीवे यह जोड़ी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

आज बृज में होली है रे रसिया,

होरी रे रसिया,

बरजोरी रे रसिया,

आज बृज में होली है रे रसिया।।

होली के भजन / Holi Ke Bhajan Lyrics in hindi | collections of holi songs bhajans lyrics page and post on lyrics in hindi site page

Leave a Reply