एक कोरे कागज़ पे तूने कलम चलाई है

एक कोरे कागज़ पे तूने कलम चलाई है
सात पथ की राह गुरु तूने दिखलाई है
एक कोरे कागज़ पे………………..

माता ने जन्म दिया गुरुवार को सौंप दिया
अज्ञान अंधेरों का क्षण भर में लोप किया
सत्कर्म सरल भाषा तूने सिखलाई है
एक कोरे कागज़ पे……………….

तू ज्ञान का सागर है गुणगान करे तेरा
सद्गुण की गागर है सम्मान करें तेरा
प्रभुवर से मिलने की युक्ति बतलाई है
एक कोरे कागज़ पे………………..

सद्गुरु मिल जाने से जीवन खिल जाता है
भव पार उतरने का रास्ता मिल जाता है
ऐ हर्ष गुरु तुमसे मुक्ति मिल पाई है
एक कोरे कागज़ पे………………..

Leave a Reply