ओ राधे रानी श्याम तेरा दीवाना

राधे कान्हा राधे कान्हा
राधे रानी श्याम तेरा दीवाना
लिखे मुरली से तेरा ही अफसाना
मुरली से निकले आवाजे यही राधे
हो राधे राधे हो मेरी राधे राधे तू मेरी राधे राधे
तेरे बिन कान्हा आधे।।

मेरे सांवरिया तू मेरी है धडकन
सुनु तेरी बंसी कहे ये मेरा मन
मेरी पायल के घुंघुरू है केहते यही
हो कान्हा कान्हा ओ मेरे कान्हा कान्हा
ओ मेरे प्यारे कान्हा दूर न मुझसे जाना।।

तेरे नाम का मुझे नशा चड़ा है
तेरे श्याम का दिल तुझपे अडा है
तुझपे ये दिल आ गया
रंग में तेरे छा गया
धडकन से निकले सदा यही
राधे राधे हो मेरी राधे राधे तू मेरी राधे राधे
तेरे बिन कान्हा आधे।।

मेरे संवारे तेरी जन्मो से राधा
ये तेरे बिना मेरा दिल है आधा
तुझे अनजाना कैसे कहू
तुझे खो कर मैं कैसे जीयु
तुझसे जुडी है दासता मेरी
हो कान्हा कान्हा ओ मेरे कान्हा कान्हा
ओ मेरे प्यारे कान्हा दूर न मुझसे जाना।।

सुन राधिके तेरा जादू है
कैसा मैंने देखा नही कोई तेरे जैसा
तुझपे ही सांसे रुकी तुझ पे ही सांसे टिकी
शर्मा भी केहता है दिल से यही राधे
हो राधे राधे हो मेरी राधे राधे तू मेरी राधे राधे
तेरे बिन कान्हा आधे।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply