ओ संकट काट रहे मेरे बाला जी

ओ संकट काट रहे मेरे बाला जी,
जिस ने भी धरखासत लगाई
मेरे बाबा ने गदा घुमाई
ओ गुपटे बाँट रहे मेरे बाला जी
संकट काट रहे मेरे बाला जी।।

जो पड़ता हनुमान चालीसा
भक्ति में लेवे जो जीसा
वो ज्योत क्डाट रहे मेरे बाला जी
संकट काट रहे मेरे बाला जी।।

ॐ हनुमंत जो भी जपता सदा साथ बजरंगी मिलता
किसी से ने न नाट रहे मेरे बाला जी
संकट काट रहे मेरे बाला जी।।

Leave a Reply