कन्हैया ये क्या हो रहा है

कन्हैया ये क्या हो रहा है,
कन्हैया ये क्या हो रहा है,
गौ माता तोहे बुला रही है,
नैनं से नीर बहा रही है,
गाल पे चले कटारी रे,
अत्याचार हो रहा है,
कन्हैया ये क्या हो रहा है ।।

ब्रज मंडल सूना हुए,
बिन मुरली की तान,
ग्वाला बन के फेर दो,
बचा हमारे प्राण ।।

जब मोहे बिसारो है,
आ घर न रह्यो हमारे,
पापी जगत में छायो,
बदी के बीज बो रहा है,
कन्हैया कहा सो रहा है।।

दूध दही माखन तो है,
गयी बच्छियां की लार,
बूढी हो गयी बेथ में,
बेचे खड़े बाजार,
चिन्दी की खाल उतारे,
मोपे दातो पानी लारे है,
पन्हा पन्हा में मेरी भ्रष्टाचार हो रहा है,
कन्हैया कहा सो रहा है ।।

धर्म गया पाताल में,
गिरे करम से लोग,
मासाहारी है घने,
तज दिए मोहन भोग,
अब जीव जीव को खा रहयो,
और कलियुग कला दिखा रहयो,
कहे अमरजीत भैया,
इनका काल आ रहा है,
कन्हैया कहा सो रहा है।।

गौ माता तोहे बुला रही है,
नैनं से नीर बहा रही है,
गाल पे चले कटारी रे,
अत्याचार हो रहा है,
कन्हैया ये क्या हो रहा है ।।

Kanhaiya Ye Kya Ho Raha Hai Lyrics

Kanhaiya Ye Kya Ho Raha Hai
Gau Mata Tohe Bula Rahi Hai
Nain Se Neer Baha Rahi Hai
Gal Pe Chale Kataari Re
Atyachaar Ho Raha Hai
Kanhaiya Ye Kya Ho Raha Hai

Leave a Reply