काहे घबराता है दिल और काहे उदास है

काहे घबराता है दिल और काहे उदास है,
मुरलीधर मोहना दिल तेरे ही पास है।।

ढूंढे ने की उसको क्या है दरकार,
सामने खड़ा है तेरा श्याम सरकार,
काहे को पुकार ता है जोर जोर से,
खींचता क्यों नहीं इसे प्रेम डोर से,
छोटी सी प्रेम कुटियाँ में इसका निवास है,
काहे घबराता है दिल और काहे उदास है।।

सांवला कन्हियाँ तुझे देख रहा
बात कैसे करू यही सोच रहा,
तू तो तेरे दुःख से परेशान है,
श्याम के तरफ तेरा नहीं ध्यान है,
तू भी निराश है याहा वो भी निराश है,
काहे घबराता है दिल और काहे उदास है।।

सांवला कन्हियाँ तेरे साथ साथ है,
वनवारी डरने की क्या बात है,
शयम का भजन दिन रात किये जा,
साथ तेरा देगा इसे याद किये याद,
निकले जुबा से श्याम श्याम जब तक ये साँस है,
काहे घबराता है दिल और काहे उदास है।।

काहे घबराता है दिल और काहे उदास है,
मुरलीधर मोहना दिल तेरे ही पास है।।

Kahe Ghabrata Hai Dil
Aur Kahe Udaas Hai
Murlidhar Manmohna
Dil Tere Pass Hai

Dhudhane Ki Usko Kya Hai Darkar
Samane Khada Hai Tera Shyam Sarkar

Kaahe Ko Pukarta Hai Jor Jor Se
Kaahe Kheechta Nahi Prem Dor Se

Chhoti See Prem Kutiya
Mein Iska Niwas Hai

Kahe Ghabrata Hai Dil
Aur Kahe Udas Hai

Sawala Kanhaiya Tujhe Dekh Raha
Baat Kaise Karu Yahi Soch Raha

Tu To Tere Dukh Se Pareshan Hai
Shyam Ki Taraf Tera Nahi Dhyan Hai

Tu Bhi Niraash Hai Yaha
Vo Bhi Niraash Hai

Kahe Ghabrata Hai Dil
Aur Kahe Udaas Hai

Sanwala Kanhaiya Tere Sath Sath Hai
Banwari Darne Ki Kya Baat Hai

Shyam Ka Bhajan Din Raat Kiyeja
Sath Tera Dega Isse Yaad Kiyeja

Nikale Jubaa Se Shyam Shyam
Jab Tak Ye Swash Hai

Kahe Ghabrata Hai Dil Aur Kahe Udas Hai
Murlidhar Manmohna Dil Tere Pass Hai

Singer – Pramod Tripathi

Leave a Reply