कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का

कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का
इस सोदे में बात निराली टका लगे न पाई
लुट ले गए नारद नरसी मीरा सदन कसाई रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

इस सोदे को किया सुर ने कैसा श्याम रिजाया,
चित्र कूट पर तुलसी ने चन्दन का तिलक लगाया रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

नानक देव कबीर भीलनी धना भगत रेह जा सा
इस सोदे में पड़ने से रेहते रघुवर के पासा रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

इस सोदे को किया पवन सूत अजर अमर बन बैठे
गुन्वानो में श्रेठ बने और दुनिया में पूज बैठे रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

राम रहीम खुद जो चाहे सो लेलो
हरी नाम के बदले में तुम जीवन के सुख लेलो रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

इस सोदे में सुख ही सुख है झोली भर लो आकर
खुद भी लूटो और लुटाओ गोविन्द के गुण गा कर रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

जीवन की बस साख यही है सच्चा सोदा रखो,
राम नाम का सुमिरन कर इश्वर पर श्रधा रखो रे
कोई सोदा करलो सोदागर आया हरी के नाम का।।

Leave a Reply