गुरु बिन चैन कहा रे मनवा

गुरु बिन चैन कहा रे मनवा
आँखिया प्यासी हरी दरश को

बीते दिवस नैना ओ रे मनवा
हरी बिन चैन कहा रे मनवा

जाग की माया आजब निराली
इनके बंधन रेशम वाली
डोर पकड़ मन गुरु चरण की

हरी शरण अपनाले मनवा रे मनवा
हरी बिन चैन कहा रे मनवा

कल आज और कल के खेल में
दिवस जानम है गवाया
आज भजूँगा कल को भजूँगा

सारी उमर को यूही गवाया
अब मत कर तू देर रे बंदे

हरी शरण अपना रे मनवा
गुरु बिन चैन कहा रे मनवा
हरी बीनू चैन कहा रे मनवा

आँखिया प्यासी हरी दरश को
बीते दिवस रैना

गुरु बिन चैन कहा रे मनवा
गुरु बिन चैन कहा रे मनवा

Guru Bin Chain Kaha Re Manva
Aankhiya Pyasi Hari Darash Ko

#Singer – Shree Pawan Daas Ji Maharaj

Guru Bin Chain Kaha Re Manva
Aankhiya Pyasi Hari Darash Ko

Beete Diwas Naina O Re Manva
Hari Bin Chain Kaha Re Manva

Jag Ki Maya Aajab Nirali
Inke Bandhan Resham Wali
Dor Pakad Man Guru Charan Ki

Hari Sharan Apnale Manva Re Manva
Hari Bin Chain Kaha Re Manva

Kal Aaj Aur Kal Ke Khel Mein
Diwas Janam Hai Gavaya
Aaj Bhajunga Kal Ko Bhajunga

Saari Umar Ko Yuhi Gavaya
Ab Mat Kar Tu Der Re Bande

Hari Sharan Apna Re Manva
Guru Bin Chain Kaha Re Manva
Hari Binu Chain Kaha Re Manva

Aankhiya Pyasi Hari Darash Ko
Beete Diwas Raina

Guru Bin Chain Kaha Re Manva
Guru Bin Chain Kaha Re Manva

Leave a Reply