गोवर्धन की नगरीया आओ गिरिराज के दर्शन पाओ

गोवर्धन की परिक्रमा लगा लो
हां लगा लो
सोया भाग्य तुम अपना जगा लो।।

गोवर्धन की नगरीया आओ भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ
गोवर्धन की परिक्रमा लगा लो
सोया भाग्य तुम अपना जगा लो।।

मानसी गंगा बहे यहाँ पे
सबसे पहले यहाँ पर नहाओ भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ
गोवर्धन की नगरीया आओं भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ।।

सात कोस की करो परिक्रमा
दानघाटी पे दूध चढ़ाओ भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ
गोवर्धन की नगरीया आओं भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ।।

मुड़िया पूनो का मेला यहाँ लगता
कृष्ण भक्ति का फल यहाँ पाओ भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ
गोवर्धन की नगरीया आओं भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ।।

राधा रानी बिरज महारानी
इनकी सेवा से आनंद मनाओ भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ
गोवर्धन की नगरीया आओं भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ।।

गोवर्धन की नगरीया आओ भक्तो आओ
गिरिराज के दर्शन पाओ
गोवर्धन की परिक्रमा लगा लो
सोया भाग्य तुम अपना जगा लो।।

This Post Has 4 Comments

  1. Pingback: श्याम सलोनी सूरत जबसे बस गई मन मंदिर में – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  2. Pingback: top 90 krishna bhajan lyrics – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  3. Pingback: Radha Se Kar De Sagai Krishna Bhajan By Uma Lehari – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  4. Pingback: naye krishna bhajan lyrics – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply