छोटे से टूटे से इस घर में आए है बाला जी

छोटे से टूटे से इस घर में आए है बाला जी
देख लो आकर जाग वालो अंजनी लाला जी
अपने हाथो भोग लगओ बाला जी,
रूखा सूखा जो है खिलाओ बाला जी,
मेरे मन के मंदिर मेी तू है बाला जी,
सोच मुझे पागल यह दुनिया है हँसी
जय बाला कर दया हे बाला
जय बाला कर दया हे बाला।।

पूजा जानू ना साधना जानू
ना कैसे तेरा सत्कार मैं करू
जी यह चाहे है तुझको बितके आज अपने हांतो सृंगार मई करू
देख तुझे सामने होश खो सा जाए,
क्या करू क्या नही मन समझ ना पाए,
क्या करू क्या नही मन समझ ना पाए,
तू जो कहे मुझसे करू आज मैं वही ,
सोच मुझे पागल यह दुनिया है हँसी,
जय बाला कर दया हे बाला,
जय बाला कर दया हे बाला।।

छोटे से टूटे से इस घर मेी आए है बाला जी
देख लो आकर जाग वालो अंजनी लाला जी
अपने हाथ भोग लगओ बाला जी,
रूखा सूखा जो है खिलौ बाला जी,
मेरे मन के मंदिर मेी तू है बाला जी,
सोच मुझे पागल यह दुनिया है हँसी,
जय बाला कर दया हे बाला,
जय बाला कर दया हे बाला।।

पाई कभी ना मा की ममता
जो थे अपने मुख मोड़ वो चले,
मैने तुझे ही अपना माना है
टूट जाो जो कहर तू चले,
मुझे तेरा क्या धारित रूप मैं मिले
जीवन की छाव और धूप मे मिले,
जीवन की छाव और धूप मे मिले,
तेरे साइवा मेरा कोई और है नही,
सोच मुझे पागल यह दुनिया है हँसी,
जय बाला कर दया हे बाला,
जय बाला कर दया हे बाला।।

छोटे से टूटे से इस घर में आए है बाला जी
देख लो आकर जाग वालो अंजनी लाला जी
अपने हाथो भोग लगओ बाला जी,
रूखा सूखा जो है खिलाओ बाला जी,
मेरे मन के मंदिर मेी तू है बाला जी,
सोच मुझे पागल यह दुनिया है हँसी
जय बाला कर दया हे बाला
जय बाला कर दया हे बाला।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply