छोड़ के मत जइयो कान्हा हमसे कछु कह जइयो

छोड़ के मत जइयो कान्हा हमसे कछु कह जइयो
छोड़ के मत जइयो छलिया हमसे कछु कह जइयो
छोड़ के मत जइयो कान्हा हमसे कछु कह जइयो।।

मैं हूँ तेरी प्रेम दीवानी क्यों करते अपनी मनमानी
प्रेम को खत लिखियो छलिया हमसे कछु कह जइयो
छोड़ के मत जइयो कान्हा हमसे कछु कह जइयो।।

दिल की बात कहु मैं कैसे तुम्हे छोड़ बीती है बरसे
खबर लाइयो नटखट हमसे कछु कह जइयो
छोड़ के मत जइयो कान्हा हमसे कछु कह जइयो।।

ऐसे कान्हा तुम निर्मोही तेरी याद में वो राधा रोई
भूल मत मोहे जइयो कान्हा कछु मन की कह जइयो
छोड़ के मत जइयो कान्हा हमसे कछु कह जइयो।।

Leave a Reply