जब भक्त नही होते भगवान कहा होता

जब भक्त नही होते भगवान कहा होता
जब भक्ति नही होते भगवान कहा होता
तेरी मेरी समस्या का समाधान कहा होता।।

भक्त हुए लाखो और भक्ति भी करते है
उससे हनुमान जैसा कोई भक्त कहा होता।।

जब भक्त नही होते भगवान कहा होता
जब भक्त नही होते भगवान कहा होता।।

दान हुए लखो और दान भी करते है
उसे कन्या दान जैसा कोई दान कहा होता।।

ज्ञानी हुए लाखो और ज्ञान भी देते है
उसे रवाँ के जैसा कोई ज्ञानी कहा होता।।

जब भक्त नही होते भगवान कहा होता
जब भक्त नही होते भगवान कहा होता।।

सत्यवादी हुए लाखो और सत्या भी कहते है
राजा हरीश चंद्रा जैसा सत्यवान कहा होता।।

जब भक्त नही होते भगवान कहा होता
जब भक्त नही होते भगवान कहा होता।।

Jab Bhakt Nahi Hoti Bhagwan Kaha Hota
Teri Meri Samashya Ka Samadhan Kaha Hota

Jab Bhakti Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota
Teri Meri Samashya Ka Samadhan Kaha Hota

Bhakt Hue Laakho Aur Bhakti Bhi Karte Hai
Usse Hanuman Jaisa Koi Bhakt Kaha Hota

Jab Bhakt Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota
Jab Bhakt Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota

Daan Hue Lakho Aur Daan Bhi Karte Hai
Uss Kanya Daan Jaisa Koi Daan Kaha Hota

Gyani Hue Laakho Aur Gyan Bhi Dete Hai
Uss Rawan Ke Jaisa Koi Gyani Kaha Hota

Jab Bhakt Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota
Jab Bhakt Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota

Satyavaadi Hue Laakho Aur Satya Bhi Kahte Hai
Raja Harish Chandra Jaisa Satyavaan Kaha Hota

Jab Bhakt Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota
Jab Bhakt Nahi Hote Bhagwan Kaha Hota

Leave a Reply