जब से देखा है बरसाना भूल गए हम सारा जमाना

जब से देखा है बरसाना भूल गए हम सारा जमाना
हम मस्ती में खो गये हो गये हम श्यामा जू के हो गये।।

श्यामा मेरी प्यारी प्यारी हम श्यामा के प्यारे है
तेरी एक नजर से राधे होते वारे न्यारे है
भगती का रंग मुझपर बरसाना
भूल गए हम सारा जमाना हम मस्ती में खो गए
हो गये हम श्यामा जू के हो गये।।

बरसाने में आकर देखो खोटे सिक्के चलते है
शिव शंकर भी ध्यान लगा कर राधे राधे जपते है
मन मोहन भी तेरा दीवाना भूल गए हम सारा जमाना
हो गये हम श्यामा जू के हो गये।।

माधव मेहर दास ने राधे जीवन तेरे नाम किया
हर मुस्किल एहसान हुई है जब भी तुझको याद किया
अपने ब्रिज में हम को वसाना भूल गए हम सारा जमाना
हम मस्ती में खो गए हो गये हम राधा जू के हो गये।।

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply