जय जय श्यामा जय जय श्याम जय जय श्री वृन्दावन धाम

जय जय श्यामा, जय जय श्याम,
जय जय श्री वृन्दावन धाम।।

प्यारी श्यामा प्यारो श्याम
प्यारो श्री वृन्दावन धाम।।

जय जय श्यामा, जय जय श्याम,
जय जय श्री वृन्दावन धाम।।

अपनी श्यामा अपनों श्याम
जय जय श्री वृन्दावन धाम।।

अपनी श्यामा अपनों श्याम
अपनों श्री वृन्दावन धाम।।

जय जय श्यामा, जय जय श्याम,
जय जय श्री वृन्दावन धाम।।

श्यामा प्यारी कुञ्ज बिहारी
जय जय श्री हरिदास दुलारी।।

श्यामा गोरी नित्य किशोरी
श्री हरिदास की सुन्दर जोरि।।

जय जय श्यामा, जय जय श्याम,
जय जय श्री वृन्दावन धाम।।

पावन राधा तेरो नाम, पावन श्री वृन्दावन धाम।।
मीठो लागे तेरो नाम, मीठो है वृन्दावन धाम।।

मोहे आन मिलो घनश्याम, बहुत दिन बीत गए।
अब हो गयी जीवन की श्याम, बहुत दिन बीत गए॥

राधा के हो तुम बड़े प्यारे,
मेरे भी बन जाओ सहारे।
कहीं निकले ना जाए मेरे प्राण,
बहुत दिन बीत गए॥

तेरी सुरतिया पे वारि जाऊं,
तुमको अपने दिल में छिपाऊं।
तुम्हे देखे ना दुनिया तमाम,
बहुत दिन बीत गए॥

Leave a Reply