जय जय हनुमान जी राम राम

जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
सोने के सिंहासन पर बैठे मेरे रामजी,
चरणों पर बैठे हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

केसर तिलक लगाए मेरे राम जी,
डाल सिन्दूर लाल हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

कौशल्या नंदन कहाये मेरे रामजी,
अंजनी के लाल जी हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

साड़ी रामायण में है रामजी,
सुन्दर कांड हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

मुक्ति के दाता है मेरे रामजी,
भक्ति के दाता है हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

पीला पीताम्बर पहने रामजी,
लाल लंगोट हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

फल और मेवा खाये रामजी,
लड्डुअन का भोग हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

सारे जगत के मालिक मेरे रामजी,
हमारे तो मालिक हनुमानजी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम,
जय जय हनुमान जी राम राम।।

Leave a Reply