जय हो अंजनी के लाला

जय हो अंजनी के लाल
जय हो बजरंग मेरे बाला
तू तो भक्तो पे मेहर करता है

तेरे मंदिर में रोज आऊंगा
तेरी पूजा करू मैं तेरे दर्शन पाउँगा
तेरी महिमा रोज गाऊ तुझे मैं रोज ध्याऊँगा
तेरे द्वारे पे आके रोज शीश झुकाऊँगा

जय हो अंजनी के लाला
जय हो बजरंग मेरे बाला
तू तो भक्तो पे मेहर करता है

वीरो में महा वीर बलि हो
तू है बजरंग बाला
सब देवो में देव है एक तुहि मतवाला
रोज राम के नाम की जाप्ता है तू माला
तेरा सामना जग में कोई न करने वाला

जय हो अंजनी के लाला
जय हो बजरंग मेरे बाला
तू तो भक्तो पे मेहर करता है

बायीं भुजा से भूत प्रेत को तू मार भगाये
दाहिनी भुजा से तू भक्तो के भाग्य सँवारे
विपदा हो या संकट तुहि उबारे
अंजनी माँ के लाल कहते बजरंगी प्यारे

छप्पन भोग लगाया मैंने आरती उतरी
विक्की आया करने तेरे दर्शन
अब तो दर्शन दे दो बलकारी
अब तो आजा बाबा मुझे है आस तेरी

जय हो अंजनी के लाला
जय हो बजरंग मेरे बाला
तू तो भक्तो पे मेहर करता है

Leave a Reply