जिसे माँ का सहारा मिल जाए

जिसे माँ का सहारा मिल जाए,
वो बिन मांगे सुख पायेगा
पतवार हो जब माँ के हाथो
भव पर वो खुद हो जाएगा
जिसे माँ का सहारा मिल जाए।।

माँ से धरती माँ से अम्बर माँ का दर्जा सब से उचा
माँ तू ही मेरा मंदिर है माँ तू ही मेरी पूजा है
माँ तुझसे बड कर दुनिया में मेरा और नही कोई दूजा है
माँ का कर्ज तू इस जीवन में कभी चूका न पायेगा
माँ की महिमा धरती अम्बर भी युगों युगों तक गायेगा
जिसे माँ का सहारा मिल जाए।।

माँ अपने बचो की खातिर जाने कितने कष्ट उठा ती है
नो माह तक अपने बचे को माँ अपनी कोख में रखती है
उस की परविरिश की खातिर जाने कितने कष्ट वो सेहती है,
बड़े बड़े ग्यानी केहते है माँ से बड़ा न कोई
माँ गले लगाएगी तुझको जब जग तुझको ठुकराएगा
जिसे माँ का सहारा मिल जाए।।

Jise Maa Ka Sahara Mil Jae Vo Bin Mage Sukh Payega
Patavar Ho Jab Ma Ke Hatho Bhav Par Vo Khud Ho Jaega
Jise Maa Ka Sahara Mil Jae

Maa Se Dharati Ma Se Ambar Ma Ka Darja Sab Se Ucha
Maa Tu Hi Mera Mandir Hai Ma Tu Hi Meri Puja Hai
Maa Tujhase Bad Kar Duniya Mein Mera Aur Nahi Koi Duja Hai
Maa Ka Karj Tu Is Jeevan Mein Kabhi Chuka Na Payega
Ma Ki Mahima Dharati Ambar Bhi Yugon Yugon Tak Gayega
Jise Maa Ka Sahara Mil Jae

Maa Apne Bacho Ki Khatir Jane Kitane Kasht Utha Ti Hai
No Mah Tak Apane Bache Ko Ma Apani Kokh Mein Rakhati Hai
Us Ki Paravirish Ki Khatir Jane Kitane Kasht Vo Sehati Hai
Bade Bade Gyani Kehate Hai Ma Se Bada Na Koi
Maa Gale Lagaegi Tujhako Jab Jag Tujhako Thukarae Ga
Jise Maa Ka Sahara Mil Jae

This Post Has One Comment

  1. Pingback: durga maiya bhajan lyrics – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply