तेरा नहीं रे जगत में कोई या दुनिया सारी मतलब की

तेरा नहीं रे जगत में कोई,
या दुनिया सारी मतलब की ।।

मोह माया के जाल में फसके,
क्यों तू वक्त गंवाए, क्यों तू वक्त गंवाए
जिनके कारण फिरे भरम का,
कोई काम ना आवे, कोई काम ना आवे,
तेरा कोई ना दीवाने बन्दे होए,
या दुनिया सारी मतलब की,
तेरा नही रें जगत में कोई,
या दुनिया सारी मतलब की।।

मात पिता सुन बंधू सारे,
मतलब के है यार, मतलब के है यार,
अपने मतलब के कारण प्रिया,
करती तुमसे प्यार, करती तुमसे प्यार,
तू क्यों रहा रे नींद में सोय,
या दुनिया सारी मतलब की,
तेरा नही रें जगत में कोई,
या दुनिया सारी मतलब की।।

झूठे जग से प्रीत लगाई,
सच्ची राह त्याग, सच्ची राह त्याग,
गफलत में तू क्यों पड़ सोया,
मुरख अब तो जाग, मुरख अब तो जाग,
अपना पापों में जीवन खोय,
या दुनिया सारी मतलब की,
तेरा नही रें जगत में कोई,
या दुनिया सारी मतलब की।।

सत्य नाम का सुमिरण करले,
मन के मेल मिटाए, मन के मेल मिटाए,
उसके नाम के सुमिरण से तेरी,
बिगड़ी बनती जाए, बिगड़ी बनती जाए,
सारे दाग दिलों के तू धोय,
या दुनिया सारी मतलब की,
तेरा नही रें जगत में कोई,
या दुनिया सारी मतलब की।।

तेरा नहीं रे जगत में कोई,
या दुनिया सारी मतलब की।।

Tera Nahi Re Jagat Mein Koi
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Tera Nahi Re Jagat Mein Koi
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Moh Maya Ke Jaal Mein Faske
Kyo Tu Waqt Gavaye
Jinke Karan Fire Bharamta
Koi Kaam Naa Ve

Tera Koi Naa Deewana Bande Hoye
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Tera Nahi Re Jagat Mein Koi
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Maat Pita Sun Bandhu Saare Sab Matlab Ke Hai Yaar
Apne Matlab Ke karan Karte Tumse Pyar

Tu Kyo Raha Yaa Neend Mein Soye
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Tera Nahi Re Jagat Mein Koi
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Jhoothe Jag Se Preet lagayi
Sachchi Raah Tyag

Gaflat Mein Tu Kyo Pad Soya
Moorakh Ab To Jaag

Apna Papo Mein Jeevan Khoye
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Tera Nahi Re Jagat Mein Koi
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Satya Naam Ka Sumiran Karle
Man Ke Mail Mitaye

Usske Naam Ke Sumiran Se
Teri Bigadi Banti Jaaye

Saare Raag Dilo Tu Dhoye
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

Tera Nahi Re Jagat Mein Koi
Yaa Duniya Saari Matlab Ki

This Post Has One Comment

  1. Pingback: Jarre Jarre Mein Tu Hai Samaya Dhundne Ki Jaroorat Nahi Hai – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply