तेरी मिट्टी में मिल जावाँ गुल बणके मैं खिल जावाँ

तलवारों पे सर वार दिए
अंगारों में जिस्म जलाया है
तब जा के कहीं हमने सर पे
ये केसरी रंग सजाया है

ऐ मेरी ज़मीं अफसोस नहीं
जो तेरे लिए सौ दर्द सहे
महफूज़ रहे तेरी आन सदा
चाहे जान मेरी ये रहे न रहे

ऐ मेरी ज़मीं महबूब मेरी
मेरी नस-नस में तेरा इश्क बहे
फीका ना पड़े कभी रंग तेरा
जिस्मों से निकल के खून कहे

तेरी मिट्टी में मिल जावाँ
गुल बणके मैं खिल जावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू
तेरी नदियों में बह जावाँ
तेरे खेतों में लहरावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू

सरसों से भरे खलिहान मेरे
जहाँ झूम के भंगड़ा पा न सका
आबाद रहे वो गाँव मेरा
जहाँ लौट के वापस जा न सका
ओ वतना वे, मेरे वतना वे
तेरा-मेरा प्यार निराला था
कुर्बान हुआ तेरी अस्मत पे
मैं कितना नसीबों वाला था
तेरी मिट्टी में मिल जावाँ…
केसरी…

ओ हीर मेरी तू हँसती रहे
तेरी आँख घड़ी भर नम ना हो
मैं मरता था जिस मुखड़े पे
कभी उसका उजाला कम ना हो
ओ माई मेरी क्या फिक्र तुझे
क्यूँ आँख से दरिया बहता है
तू कहती थी तेरा चाँद हूँ मैं
और चाँद हमेशा रहता है
तेरी मिट्टी में मिल जावाँ…

Din Shagna De Ae Jashan Karo
Lau Jee Karo Mashalo Ki
Keshariya Shehre Mein Saj Ke
Barat Chali Matwalo Ki

Hatho Se Mere Ye Hath Tere
Choote To Yaar Sihar Gayi Main
Tu Sarhad Pe Balidan Hua
Dehleej Pe Ghar Ki Mar Gayi Main

Tu Dil Mein Mere Aabad Hai Yu
Jaise Phool Ho Kitabo Mein

O Maiya Ve Vada Hai Mera
Hum Roj Milenge Khwabo Mein

Teri Mitti Me Mil Java
Gul Ban Ke Main Khil Java
Itni See Hai Dil Ki Aarjoo

Teri Nadiyo Mein Beh Java
Tere Kheto Mein Leharava
Itni See Hai Dil Ki Aarjoo

Saavan Ki Jhadi Jab Lagti Hai
Boondo Mein Tuhi Barsta Hai
Tuhi To Hai Jo Jharno Ke
Paani Mein Chhupke Hansta Hai

Tyohaar Mere Sab Tujhse Hi
Meri Holi Tu Baishakhi Tu
Main Aaj Bhi Hu Jogan Teri
Hai Aaj Bhi Mujhme Baaki Tu

Teri Mitti Me Mil Java
Gul Ban Ke Main Khil Java
Itni See Hai Dil Ki Aarjoo

Teri Nadiyo Mein Beh Java
Tere Kheto Mein Leharava
Itni See Hai Dil Ki Aarjoo

Leave a Reply