दरबार सजा माता का जयकारे ला लो

दरबार सजा माता का जयकारे ला लो
थारा मोल नहीं लागे ताने था लो
दरबार सजा माता का जयकारे ला लो

भण्डारो में कमी नहीं मैया शेरोवाली के
निर्धन ने धनवान बना दरबार महारानी के
भर भर मुट्ठो बाट रही है झोली फैला लो

दरबार सजा माता का जयकारे ला लो
थारा मोल नहीं लागे ताने था लो
दरबार सजा माता का जयकारे ला लो

लेकर एक रजिस्टर बैठी है मैया जम्मूवाली
कौन आया है कौन नहीं आया है हाजरी लगा रही है
हो अपना अपना नाम बोलके हजारी लगा लो

थारा मोल नहीं लागे ताने था लो
दरबार सजा माता का जयकारे ला लो

कहे करिश्मा चाँद सा मैया जी का दरबार लगे
किश्मत वाले होते है जिनके अंगना में ज्योत जगे

हो आज बंधन बाँध रही से बंधन बाँध लो
थारा मोल नहीं लागे ताने था लो
दरबार सजा माता का जयकारे ला लो

This Post Has 3 Comments

  1. Pingback: एक मुस्काती कन्या के मुख पर झलक दिखी है मैया की – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  2. Pingback: Jagdambe Maiya Mehar Karo – bhakti.lyrics-in-hindi.com

  3. Pingback: durga mata ke bhajan lyrics in hindi – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply