दर तेरे आ गया मेरी माँ

तेरे बिना भी न एक पल भी न गुजरे
बोल कैसे माँ जिंदगी गुजारूं माँ
हरपल तेरी याद सताए माँ
हरपल तुझको ही पुकारू मैं

दर तेरी आ गया मेरी माँ
दर तेरे आ गया

तेरे दर्शन की माँ मन में है कामना
दर तेरे आ गया मेरी माँ दर तेरे आ गया

मेरे सर पे माँ रखदे तू हाथ
दर तेरे आगया मेरी माँ
दर तेरे आ गया

मेरी जमी तू मेरा आसमान
माँ के चरणों में तो है ये सारा जहां
तू है जग तारणी माँ ये जग तराना
मेरे सर पे माँ रखदे तू हाथ
दर तेरे आ गया मेरी माँ दर तेरे आ गया

माँ ममता की तू एक धार है
तू जो बरसाती है वो तेरा प्यार है
तू रहे साथ माँ बस यही प्राथना
मेरे सर पे माँ रखदे तू हाथ
दर तेरे आ गया मेरी माँ

मेरे हर गुनाहो को तू माफ़ कर
माँ लागले तेरे आया हूँ दर
अपने बेटो पे माँ तू दया ही करना
मेरे सर पे माँ रखदे तू हाथ
दर तेरे आ गया मेरी माँ

मेरो आँखों में एक तेरा रूप माँ
मैं देखु जहाँ तेरी सूरत वहाँ
तेरे दर पे रहूँ है यही कामना
मेरे सर पे रखदे हाथ
दर तेरे आ गया मेरी माँ

तेरे बिना भी न एक पल भी न गुजरे
बोल कैसे माँ जिंदगी गुजारूं माँ
हरपल तेरी याद सताए माँ
हरपल तुझको ही पुकारू मैं

This Post Has One Comment

  1. Pingback: Maiya Ke Jagrate Mein Deewane Nachenge – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply