द्वार मैया के रोज तुम जाते रहो Bhajan Lyrics

द्वार मैया के रोज तुम आते रहो,,
काम बिगड़े सभी तेरा सुधार जाएगा।,
मन से मैया को गर पुकारो कभी,,
जो खजाने है खाली वो भर जाएंगे।,

अम्बे मैया की भक्ति है सबसे सरल जो किसी देव देवी में पाई नही।,
कौन ऐसा अभागा है संसार मे जो की जगदम्बे की महिमा गाई नही।,
सोचने में समय तेरा जाता रहा,
तो सुहाने ये पल भी गुज़र जाएंगे।,

जिनके होठो पे अम्बे का उच्चार है।,
उनके जीवन मे देखा चमत्कार है।,
उनको के चरणों मे जा अब देरी न कर,
वो ही दातार सच्चा मददगार है।,
सबकी बिगड़ी बनाती है मैया सदा।,
तेरे बिगड़ी को क्या के,
वो मुकर जाएंगे।,

।dwar maiya ke roj tum jate raho Bhajan Lyrics,

dvaar maiya ke roj tum aate raho,,
kaam bigade sabhee tera sudhaar jaega.,
man se maiya ko gar pukaaro kabhee,,
jo khajaane hai khaalee vo bhar jaenge.,

ambe maiya kee bhakti hai sabase saral jo kisee dev devee mein paee nahee.,
kaun aisa abhaaga hai sansaar me jo kee jagadambe kee mahima gaee nahee.,
sochane mein samay tera jaata raha,,
to suhaane ye pal bhee guzar jaenge.,

jinake hotho pe ambe ka uchchaar hai.,
unake jeevan me dekha chamatkaar hai.,
unako ke charanon me ja ab deree na kar,
vo hee daataar sachcha madadagaar hai.,
sabakee bigadee banaatee hai maiya sada.,
tere bigadee ko kya ke,
vo mukar jaenge.,

Leave a Reply