धोखे से वीरो को मारा देखा जो नज़ारा तो अँखियाँ रो पड़ी

देखी जो चालीस लाशें
थमी सबकी साँसे
तो अँखियाँ रो पड़ी

धोखे से वीरो को मारा
देखा जो नज़ारा
तो अँखियाँ रो पड़ी

देखी जो चालीस लाषे
थमी सबकी साँसे
तो अँखियाँ रो पड़ी

छोटे छोटे बच्चो को छोड़ा
नाता तोड़ा सबसे यहा

कैसे भूओल पाएँगे तुमको
तुमने जो दी है क़ुर्बानिया

देखा उड़ा हुआ भेजा फटा
ये कलेजा अंखिया रो पड़ी

धोखे से वीरो को मारा
देखा जो नज़ारा
तो अँखियाँ रो पड़ी

मातम में डूबा है सारा देश
हमारा गुस्सा भी है

चालीस के बदले में चारसो को
मरेंगे हम जज़्बा भी है

भावुक भाए देश वासी
दे वीरो को शब्बाशी
तो अँखियाँ रो पड़ी

देखी जो चालीस लासे
थमी सबकी साँसे
तो अँखियाँ रो पड़ी

सेना दिलाया भरोसा
अपने वतन को देगी जवाब
खाली अब ना जाएगी
ये क़ुर्बानी ये देखना

मरेंगे चुन चुनके के
ये बोले सुन सुनके
तो अँखियाँ रो पड़ी

देखी जो चालीस लासे
थमी सबकी साँसे
तो अँखियाँ रो पड़ी

धोखे से वीरो को मारा
देखा जो नज़ारा
तो अँखियाँ रो पड़ी

देखी जो चालीस लासे
थमी सबकी साँसे
तो अँखियाँ रो पड़ी

Dekhi Jo Chalis Laashe
Thami Sabki Sanse
To Ankhiyan Ro Padi

Dekhi Jo Chalis Laase
Thami Sabki Sanse
To Ankhiyan Ro Padi

Dhokhe Se Veero Ko Maara
Dekha Jo Nazara
To Ankhiyan Ro Padi

Dekhi Jo Chalis Laashe
Thami Sabki Sanse
To Ankhiyan Ro Padi

Chhote Chhote Bacho Ko Chhoda
Nata Toda Sabse Yaha

Kaise Bhoool Payenge Tumko
Tumne Jo Dee Hai Qurbaaniya

Dekha Uda Hua Bheja Fata
Ye Kaleja Ankhiya Ro Padi

Dhokhe Se Veero Ko Maara
Dekha Jo Nazara
To Ankhiyan Ro Padi

Matam Mein Dooba Hai Saara Desh
Hamara Gussa Bhi Hai

Chalis Ke Badale Mein Charso Ko
Marenge Hum Jajba Bhi Hai

Bhavuk Bhaye Desh Vasi
De Veero Ko Sabbashi
To Ankhiyan Ro Padi

Dekhi Jo Chalis Laase
Thami Sabki Sanse
To Ankhiyan Ro Padi

Sena Dilayi Bharosa
Apne Vatan Ko Degi Jawab
Khali Ab Naa Jayegi
Ye Qurbani Ye Dekhna

Marenge Chun Chunke Ke
Ye Bole Sun Sunke
To Ankhiyan Ro Padi

Dekhi Jo Chalis Laase
Thami Sabki Sanse
To Ankhiyan Ro Padi

Dhokhe Se Veero Ko Maara
Dekha Jo Nazara
To Ankhiyan Ro Padi

Dekhi Jo Chalis Laase
Thami Sabki Sanse
To Ankhiyan Ro Padi

Leave a Reply