नन्द भवन नन्द लाल ठुमक चलन लागे

नन्द भवन नन्द लाल ठुमक चलन लागे
पीछे माँ यशोमती बाबा नन्द आगे
लाल चलन लागे

लघु लघु पद ढगमग शिखन छवि जग मग जग मग
किनी किनी धुन सुन सुन कर भूमि भाग जागे
लाल चलन लागे

आंगन की शोभा पर तीन लोक नोश्यावर,
देवा सुर देख देख के अनुरागे रागे
लाल चलन लागे

अष्ट सखी अष्ट सखा सिर पर है मोर पखा
दभी के हित और  कौन शीर सिन्धु त्यागे
लाल चलन लागे

Nand Bhawan Nand Laal Thumak Chalan Laage
Pichhe Maa Yashomati Baba Nand Aage
Laal Chalan Laage

Laghu Laghu Pad Dhagamag Shikhan Chhavi Jag Mag Jag Mag
Kini Kini Dhun Sun Sun Kar Bhoomi Bhag Jage
Laal Chalan Laage

Angan Ki Shobha Par Tin Lok Noshyavar
Deva Sur Dekh Dekh Ke Anurage Rage
Laal Chalan Laage

Asht Sakhi Asht Sakha Sir Par Hai Mor Pakha
Dabhi Ke Hit Aur Kaun Shir Sindhu Tyage
Laal Chalan Laage

Leave a Reply