बालाजी की कृपा से तर जाएंगे

बालाजी की कृपा से तर जाएंगे
नतमस्तक होकर के गाथा जाएंगे
बालाजी की कृपा से तर जाएंगे।।

बाबा तेरे धाम पे दुनिया आती है
खुशियों से भर के वो झोली जाती है
जयकारा हम बालाजी का लगाएंगे
नतमस्तक होकर के गाथा जाएंगे
बालाजी की कृपा से तर जाएंगे।।

लाल सिन्दूर हम दिल से चढ़ाते है
साँचा है दरबार तेरा जाएंगे
नतमस्तक होकर के गाथा जाएंगे
बालाजी की कृपा से तर जाएंगे।।

बालाजी की कृपा से तर जाएंगे
नतमस्तक होकर के गाथा जाएंगे
बालाजी की कृपा से तर जाएंगे।।

Leave a Reply