बिसर गयी सुध रही न तन की

बिसर गयी सुध रही न तन की
होए री मैं तो मर गई
राधा बल्लव की अखियाँ जादू कर गई।।

मोटी मोटी अखियो में जीना जीना कजरा
कजरे की गोर खिसक गई
राधा बल्लव की अखियाँ जादू कर गई।।

राधा बलव की चितवन निराली
चितवन पे मैं मर गई
राधा बल्लव की अखियाँ जादू कर गई।।

दर्शन करके मैं भई रे बांवरिया
जाके दिल में वस गई
राधा बल्लव की अखियाँ जादू कर गई।।

जब से सांवरियां से अखियाँ लड़ाई,
अखियाँ लड़ाई हाय अखियाँ लड़ाई
अखियाँ घायल कर गई
राधा बल्लव की अखियाँ जादू कर गई।।

  1. मनमोहन कान्हा विनती करू दिन रैन
  2. ओ राधे रानी श्याम तेरा दीवाना
  3. हम पागल प्रेमी वृन्दावन धाम के
  4. बड़े नाज़ुक हैं मेरे हालात कन्हैया मेरी लाज रखना
  5. है तू अलबेली सरकार तू मेरा दिल धड़काती है
  6. अच्युतं केशवं कृष्ण दामोदरम राम नारायणम जानकी बल्लभम
  7. नाचे बड़ा बड़ा साहूकार देखो माखन चोर के आगे
  8. Mujhe Pyar Se Dekho Tum Main Das Tumhara Hu
  9. Baar Baar Sampati Aapar Tum Kamaoge

Leave a Reply