भक्ति मे भगवान बसे कोई सुनो सुनो

भक्ति का घर दूर है जैसे पेड़ खजूर
उपर चड़े तो फल मिले
नीचे गिरे तो चकना चूर।।

भक्ति मे भगवान बसे कोई सुनो सुनो
श्री राम प्रभु की भक्ति की थी हनुमान ने।।

भक्ति में हनुमान बालू लंका को ध्याए थे
सागर दिया फलाँग सुध माता की लाए थे।।

लंका में दी धूम मचा जाके बलवान ने
भक्ति मे भगवान बसे कोई सुनो सुनो।।

भक्ति की शक्ति से लाए पर्वत उखाड़ के
मा अंजनी के लाल ने दिखाया सीना फाड़ के।।

सीने सिया राम प्रभु देखे थे जहाँ ने
भक्ति मे भगवान बसे कोई सुनो सुनो

बालाजी भगवान तेरे दर्शन की चाह में
पवन पुत्रा हनुमान खड़े हम तेरी राह में।।

ऐसी कृपा कर देना करी सिया राम ने
भक्ति मे भगवान बसे कोई सुनो सुनो।।

कलियुग में बजरंगी तेरी लीला न्यारी है
संकट मोचन हनुमान शिव का अवतारी है।।

आकर तू वार देना बबलू आगेयन ने
भक्ति मे भगवान बसे कोई सुनो सुनो।।

Bhakti Ka Ghar Door Hai
Jaise Ped Khajoor
Upar Chade To Phal Mile
Niche Gire To Chakna Choor

Bhakti Me Bhagwan Base Koi Suno Suno
Shree Ram Prabhu Ki Bhakti Ki Thi Hanuman Ne

Bhakti Mein Hanuman Balu Lanka Ko Dhyae The
Sagar Diya Falang Sudh Mata Ki Laaye The

Lanka Mein Dee Dhoom Macha Jaake Balwan Ne
Bhakti Me Bhagwan Base Koi Suno Suno

Bhakti Ki Shakti Se Laaye Parvat Ukhaad Ke
Maa Anjani Ke Laal Ne Dikhaya Seena Faad Ke

Seene Siya Ram Prabhu Dekhe The Jahaan Ne
Bhakti Me Bhagwan Base Koi Suno Suno

Balaji Bhagwan Tere Darshan Ki Chaah Mein
Pawan Putra Hanuman Khade Hum Teri Raah Mein

Aisi Kripa Kar Dena Kari Siya Ram Ne
Bhakti Me Bhagwan Base Koi Suno Suno

Kaliyug Mein Bajrangi Teri Leela Nyari Hai
Sankat Mochan Hanuman Shiv Ka Avtari Hai

Aakar Tu Var Dena Babalu Agayan Ne
Bhakti Me Bhagwan Base Koi Suno Suno

Leave a Reply