भगवान जैसा कोई नहीं

भगवान जैसा कोई नहीं
भगवान जैसा कोई नहीं
वो तो जहान में सबसे बड़ा है
वो तो जहान में सबसे बड़ा है
भगवान जैसा कोई नहीं।।

इस जग का करतार वही
आधार वही दातार वही है
मात पिता बंधू सखा
सारे जग का आधार वही है
बुद्धि के सहरो का वही आसरा है
भगवान जैसा कोई नहीं।।

जब सब रिश्तेदार छोड़ कर
मुँह मोड़ चुके हो
तुम पर संकट काल समझकर
हाल समझ कर छोड़ चुके हो

बुरे वक़्त में भी साथी
बुरे वक़्त में भी साथी परमात्मा है
भगवान जैसा कोई नहीं।।

इधर उधर जो बचा नजर
देख रहा कण कण में
उसकी नजर से नहीं बचेगा
जिसे वो ना जाने ऐसा
जिसे वो ना जाने ऐसा दुनिया में क्या है
भगवान जैसा कोई नहीं।।

Leave a Reply