भांग तम्बाकू पियो महादेवजी नागनी बन जाऊ रे

भांग तम्बाकू पियो महादेवजी नागनी बन जाऊ रे
पियाला लोक मे जाऊ ओ महादेवजी,
भांग तम्बाकू मत पिवना हा ।।

भांग तम्बाकू पियो महादेवजी नागनी बन जाऊ रे
पियाला लोक मे रेहवो महादेवजी ओ महादेवजी,
भांग तम्बाकू मत पिवना हा
अरे नागनी बन जाऊ मै तो नान्दडो बन जाऊ रे
अरे पुंगी बजातो लावु पार्वता भांग तम्बाकू फुल पिवना हा।।

अरे भांग तम्बाकू पियो महादेवजी देवजरी बन जाऊ रे।
अरे तजली वन में रेवु महादेवजी,
भांग तम्बाकू मत पिवना हा
अरे देवजरी बन जाऊ मै तो,होलवो बन जाऊ रे
ऐ झपट मारने लावु पार्वता,भांग तम्बाकू फुल पिवना हा।।

भांग तम्बाकू पियो महादेवजी,रोजडी बन जाऊ रे
बीजा वन में रेवु महादेवजी,
भांग तम्बाकू मत पिवना हा
ऐ रोजडी बन जाऊ मै तो शिकारी बन जाऊ रे
ऐ गोली मारने लावु पार्वता भांग तम्बाकू फुल पिवना हा।।

भांग तम्बाकू पियो महादेवजी पिवरिये परी जाऊ रे
पिवरिये परी जाऊ रे
कदी पाछोनी आऊ महादेवजी,
भांग तम्बाकू मत पिवना हा
पिवरिये परी जाईला मै तो जमाई बन ने आऊला
आणो करेने लावु पार्वता भोंग तम्बाकू फुल पिवना हा।।

भांग तम्बाकू पियो महादेवजी भुजुनी बन जाऊ रे
ऊंडा कुआँ मे मरो महादेवजी,
भांग तम्बाकू मत पिवना हा
काले मरो तो आज मरो मै दुजी परणे लावु रे।
कैलाश वन में रेवो पार्वता भांग तम्बाकू फुल पिवना हा।।

शिवजी रे शरणे बोले पार्वता हुका भर भर देवुला
मुसल भर भर देवला
कैलाश बरी रेवो महादेवजी भांग तम्बाकू फुल पिवना हा।।

सिंगर – जीवाराम,पदमाराम देवासी जी।

This Post Has 5 Comments

Leave a Reply