मनसा माता के लम्बोर माहि लाग रहयो दरबार

मनसा माता के लम्बोर
माहि लाग रहयो दरबार
मनसा माता के

लाग रहयो दरबार माता को
उमड़ रहा नर नार मनसा ममता के

मनसा माता के लम्बोर
माहि लाग रहयो दरबार
मनसा माता के

चैत्र आसोज माहि नवरात्रा का मेलो भरे
लाखो लाख भगत पहुंचे है
निरख रहयो है संसार
मनसा माता के

कुल देवी के चरना माहि
सगळा शीश नवावे है
माता जी भी खुश हो करके
आशीष देवे हजार
मनसा माता के

मनसा माता के लम्बोर
माहि लाग रहयो दरबार
मनसा माता के

मंदरिये में गौरी शंकर
हनुमान जी भैरव जी
सभी करे है दर्शन पूजा
लावे है बाराम बाराम बार
मनसा माता के

मनसा माता के लम्बोर
माहि लाग रहयो दरबार
मनसा माता के

जाट जडूला भोग प्रसादी
सवा मणि भी खूब चड़े
कहवे रवि माता को आँचल
माता रही है वार मनसा माता के

मनसा माता के लम्बोर
माहि लाग रहयो दरबार
मनसा माता के

This Post Has One Comment

  1. Pingback: jai maa durga bhajan lyrics – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply