मन में जप श्री राम रे बन्दे रोज़ सुबह और शाम

मन में जप श्री राम रे बन्दे रोज़ सुबह और शाम
ये हनुमत का कहना
लेले जो ये नाम प्रभुजी उसके बनाये
ये हनुमत का कहना

ओ शबरी की भक्ति न्यारी
तरसे दर्श को बेचारी
राम खुद ही आ गए
राम खुद ही आ गए

देख मनुहार को शबरी के प्यार को
झूठे बेर खा गए झूठे बेर खा गए
जपति जपति राम राम वो पहुंची उनके धाम

मन में जप श्री राम रे बन्दे रोज़ सुबह और शाम
ये हनुमत का कहना
लेले जो ये नाम प्रभुजी उसके बनाये
ये हनुमत का कहना

नल नील दोनों भाई
ऐसी एक शक्ति पायी
करिश्मा दिखा दिया
करिश्मा दिखा दिया

पत्थर थे भारी अजूबे
फेके पानी में न डूबे
पुल्ल ही बना दिया
रहे पत्थर ना आम
उनपर लिख दिया श्री राम
ये हनुमत का कहना

मन में जप श्री राम रे बन्दे रोज़ सुबह और शाम
ये हनुमत का कहना
लेले जो ये नाम
प्रभुजी उसके बनाये
ये हनुमत का कहना

विभीषण का भाग्य जगाया
सुग्रीव मित्र बनाया
ये तो सभी जाने है
ये तो सभी जाने है

नाम की है महिमा भरी है
राम की है महिमा सारी
देव भी ये माने है
देव भी ये माने है

सौप दे जीवन आज ये पन्ना
गिरे तो ले तुझे थाम

मन में जप श्री राम रे बन्दे रोज़ सुबह और शाम
ये हनुमत का कहना
लेले जो ये नाम प्रभुजी उसके बनाये
ये हनुमत का कहना

Leave a Reply