मन मेरा बन गया है मोर मैं तो नाचूँगी

मन मेरा बन गया है मोर मैं तो नाचूँगी
मन मेरा बन गया है मोर मैं तो नाचूँगी
नाचूंगी मैं नाचूंगी नाचूंगी मैं तो नाचूंगी
मन मेरा बन गया है मोर मैं तो नाचूँगी।।

मन मेरा बन गया है मोर मैं तो नाचूँगी,
मेरे दिल में उठे हिलोर मैं तो नाचूँगी,
मन मेरा बन गया हैं मोर मैं तो नाचूँगी।।

ग्वाल बाल संग सखियाँ नाचे,
गैया बछिया झूम के नाचे,
संग संग नाचे नंदकिशोर मैं तो नाचूँगी,
मन मेरा बन गया हैं मोर मैं तो नाचूँगी।।

तरुवर के संग लता भी नाचे,
मधुबन निधिवन झूम के नाचे,
संग संग गोवर्धन कर जोर मैं तो नाचूँगी,
मन मेरा बन गया हैं मोर मैं तो नाचूँगी।।

विष्णु शम्भू संग ब्रम्हा नाचे,
सभी देवगण झूम के नाचे,
संग संग ऋषि मुनि संत चकोर मैं तो नाचूँगी,
मन मेरा बन गया हैं मोर मैं तो नाचूँगी।।

राधा के संग ललिता नाचे,
कृष्णानंद संग झूम के नाचे,
संग संग जड़ चेतन चहुँ ओर मैं तो नाचूँगी,
मन मेरा बन गया हैं मोर मैं तो नाचूँगी।।

मन मेरा बन गया है मोर मैं तो नाचूँगी,
मेरे दिल में उठे हिलोर मैं तो नाचूँगी,
मन मेरा बन गया हैं मोर मैं तो नाचूँगी।।

सिंगर – कन्हैया जी।

Leave a Reply