माँ तेरे मंदिरा ते अज लगिया रोनका भारी

भगत प्यारे लान जयकारे
लान जयकारे भगत प्यारे
माँ तेरी लगती संगत प्यारी
माँ तेरे मंदिरा ते अज लगिया रोनका भारी
माँ तेरे मंदिरा ते

विच पहाड़ी डेरे माँ दे आये चडाईया चढ़ के
सिर ते चुनिया लाल सजा के हथ विच झंडे फड के
लगदा है अज माँ दे दर ते खलकत आ गी सारी
माँ तेरे मंदिरा ते अज लगिया रोनका भारी

माता दे दरबार ते आके भगत विनेतियाँ करदे
जिहदे उते हो जान मेहरा भव सागर तो तर दे
ज्योता वाली माता मेरी करदी शेर सवारी
माँ तेरे मंदिरा ते अज लगिया रोनका भारी

सोन महीने चाला आवे असू विच नवराते
करमा वाले दे घर हुँदै माता दे जगराते
रीजा दे नाल भगत मैया दे जांदे भवन शिंगारी
माँ तेरे मंदिरा ते अज लगिया रोनका भारी

माँ दे ना दी ज्योत जगावे कोई फेर दा माला
दर्शन करके माँ दे तर गया सिविया उपल्ला वाला
खुशिया दे विच मानक गावे चढ़ गी नाम खुमारी
माँ तेरे मंदिरा ते अज लगिया रोनका भारी

This Post Has One Comment

  1. Pingback: मैं कहता हु मेरे संग माँ की तस्वीर चलती है – bhakti.lyrics-in-hindi.com

Leave a Reply