माता का जगराता भैया दर्शन देने आई मैया आज पूरी रात जागो रे

माता का जगराता भैया दर्शन देने आई मैया आज पूरी रात जागो रे,
अंबर वो धरती है चाँद वो तारे जय मैया जय मैया बोले सारे।।

भगती में डूबा है आलम सारा भगतो लगा लो जरा जैकारा
जिस ने भी मन से मैया को पुकारा शेरावाली मैया ने दिया है सहारा
शेर पे सवार मैया जगराते में आई मैया मन से मुरादे मांगो रे
माता का जगराता भैया दर्शन देने आई मैया।।

मन में शरदा ले कर आये हम बच्चे है तेरे माये,
मिल कर तेरी महिमा गाये अपना जीवन धन्य बनाये
चुनरी बांधे सिर पे सारे भक्ति में डुबो सारे माँ की महिमा गाओ रे
माता का जगराता भैया दर्शन देने आई मैया।।

चाँद चड़ेगा बारात चड़े गी दरबारे की शान बड़ेगी
जग मग ज्योत जले है नैनो को ये पावन लगे है
गाऊ जब तक होए सवेरा दर्शन मिले न तेरा मैं तो रुक न पाऊ रे
माता का जगराता भैया दर्शन देने आई मैया।।

माँ तुम से है इतनी विनती दुर्गा की भगतो में करलो विनती
दुःख सुख अपना माँ तुम से है जो अपना है याहा तुम से है
दुखियो के दुःख हरने वाली भेरो मरधंन करने वाली माँ की भेट गाओ रे
माता का जगराता भैया दर्शन देने आई मैया।।

Leave a Reply