मुझे वृन्दावन बसाया ये कृपा नहीं तो क्या है Bhakti ke Bhajan Singer ke gane- Krishna Ji bhajans Lyrics

मुझे वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

मुझे वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
सोये भाग्य को जगाया,
सोये भाग्य को जगाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
मुझें वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

भटका था दर-ब-दर का,
विषयों में मन फसाके,
विषयों से मन हटाया,
विषयों से मन हटाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
मुझें वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

मैं भूल कर के तुमको,
सुख चैन सारा खोया,
जंजाल से बचाया,
जंजाल से बचाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
मुझें वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

कीचड़ की कंकड़ी को,
मंदिर बना दिया रे,
चरणों में चित लगाया,
चरणों में चित लगाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
मुझें वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

ऐसा लगाया चस्का,
अपने ही प्रेम रस का,
पागल मुझे बनाया,
पागल मुझे बनाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
मुझें वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

मुझे वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
सोये भाग्य को जगाया,
सोये भाग्य को जगाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है,
मुझें वृन्दावन बसाया,
ये कृपा नहीं तो क्या है।।

Bhakti ke Bhajan Singer ke gane- Krishna Ji bhajans Lyrics

Mujhe Vrindavan Basaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Mujhe Vrindavan Basaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Bhatka Tha Dar B Dar Per
Vishayo Mein Mann Fasa Ke
Jag Jaal Se Chhudaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Maine Bhula Ke Tumko
Sukh Chain Sara Khoya
Charano Mein Chit Lagaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Mujhe Vrindavan Basaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Keechad Ki Kankadi Ko
Mandir Bana Diya
Soye Bhagya Ko Jagaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Mujhe Vrindavan Basaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Aisa Lagaya Chaska
Apne Hi Prem Ras Ka
Pagal Mujhe Banaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Mujhe Vrindavan Basaya
Ye Kripa Nahi To Kya Hai

Leave a Reply