मुरली जो बाजी रास में

मुरली जो बाजी रास में
सारी सखिया नाचने लगी कन्हैया तेरे साथ मे।।

मधुर मधुर मुरली बाजे झूम झूम मोहन नाचे
कूके जो कोयल बाग में
कूके जो कोयल बाग में
सारी सखिया नाचने लगी कन्हैया तेरे साथ मे।।

नाच रहा है वृंदावन नाच रहा सारा गोकुल
नाच रही सारी धरती नाच रहा सारा अम्बर
नाचे जो मोर बरसातों में
नाचे जो मोर बरसातों में
सारी सखिया नाचने लगी कन्हैया तेरे साथ मे।।

मुरली मधुर तुम्हारी ये क्या क्या खेल दिखाती है
तान सभी को सुख देती दीवाना कर जाती है
कूके जो कोयल बाग में
कूके जो कोयल बाग में
सारी सखिया नाचने लगी कन्हैया तेरे साथ मे।।

सिंगर – मुकेश कुमार मीनाजी

Leave a Reply