||मेरा मोहन प्यारा मन जावे असां जग नू मना के की लेना…|| कृष्ण भजन || best bhaja



best krishan bhajan
hindi bhajan
dogri भजन
punjabi bhajan
bhakti kirtan

जय श्री राधेश्याम

मेरा मोहन प्यारा मन जाये
अंसा जग नू मना के की लेना२
मेरे मन बिच मोहन बस जाए
असा जग नू बसा के की लेना२

ए सर है अमानत मोहन दी
दर दर ते झुकाया नही जांदा
ए दिल हैं अमानत प्रीतम दी
दर दर ते लगाया नही जांदा
असी किते कोल निबामगे
असी नदिया चिर के आमगे
असी अपना श्याम मनामागे
सातु जगत मनाया नही जादा३

मेरा मोहन प्यारा मन जाये
अंसा जग नू मना के की लेना२
मेरे मन बिच मोहन बस जाए
असा जग नू बसा के की लेना२

इक बारी तेरा जो दीदार मिलें
कचिया कलिया तू की लेना
कहे बाबरी फूल गुलाब मिले
इन्हा रंग रलिया तू की लेना

मेरा मोहन प्यारा मन जाये
अंसा जग नू मना के की लेना२
मेरे मन बिच मोहन बस जाए
असा जग नू बसा के की लेना२

ए प्यार दा पाड़ा सोखा नही
जिंद तली ते तरनी पेंधी ए२
हर इक दी सहने पेंधी ए
गल सब्र दी करने पेंधी ए२

मेरा मोहन प्यारा मन जाये
अंसा जग नू मना के की लेना२
मेरे मन बिच मोहन बस जाए
असा जग नू बसा के की लेना२

जय श्री राधे श्याम,🙏🙏🌸🌸🙏🙏🌷
🌹🌹🙏🙏🌸🌸🙏🙏🌻🌻🌸🌸

Leave a Reply