मेरा संकट होगया दूर दरश तेरा करके बालाजी

एक पल में ताला खुल गया मेरा किस्मत वाला जी
मेरा संकट होगया दूर दरश तेरा करके बालाजी

तुझसे पहले ये जीवन एक दुःख की काली रात बानी
जब आये तेरी चौखट पर हम साड़ी बिगड़ी बात बानी
गिरते हुए को बजरंग आप संभाला जी
मेरा संकट होगया दूर दरश तेरा करके बालाजी
जय बजरंग बलि जय बजरंग बलि जय बजरंग बलि

पता चला जब हनुमत को माँ सीता के बतलाने से
खुश होते है राम प्रभु चुटकी सिन्दूर लगाने से
लाल सिन्दूर में तूने खुद को रंग ही डाला जी

मेरा संकट होगया दूर दरश तेरा करके बालाजी
जय बजरंग बलि जय बजरंग बलि जय बजरंग बलि

भूत पिसाच भी डरते है बजरंगी तेरे घोटे है
कृपा रखना यो ही बाबा हम सेवक तेरे छोटे से
विनती ये जगदेव की अंजनी के लाला जी
विनती ये सुनीता की अंजनी के लाला जी
विनती ये है भक्तो की अंजनी के लाला जी

मेरा संकट होगया दूर दरश तेरा करके बालाजी
जय बजरंग बलि जय बजरंग बलि जय बजरंग बलि

Leave a Reply