मेरी चुनरी में लगया दाग पिया

मेरी चुनरी में लगया दाग पिया
दाग पिया हो दाग पिया
मेरी चुनरी में लगया दाग पिया।।

पाँच तटवा की बनी ये चुनरी
मान मूरख अभिमान किया रे
मेरी चुनरी में लगया दाग पिया।।

झिलमिल झिलमिल करे या चुनरी
चारो तरफ प्रकाश किया रे
मेरी चुनरी में लगया दाग पिया।।

धूटी फिरू मैं दाग ना छ्छूते
टन मान धन क़ुरबान किया रे
मेरी चुनरी में लगया दाग पिया।।

सतगुरु धोबी मिले सहज में
दाग जिगर का सॉफ किया रे
मेरी चुनरी में लगया दाग पिया।।

दाग पिया हो दाग पिया
मेरी चुनरी में लगया दाग पिया।।

Meri Chunari Mein Lagya Daag Piya
Daag Piya Ho Daag Piya

Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya
Daag Piya Ho Daag Piya

Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya

Paanch Tatva Ki Bani Ye Chunari
Man Moorakh Abhimaan Kiya Re
Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya

Jhilmil Jhilmil Kare Yaa Chundari
Charo Taraf Prakash Kiya Re
Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya

Dhooti Firu Main Daag Naa Chhoote
Tan Man Dhan Qurbaan Kiya Re
Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya

Satguru Dhobi Mile Sahaj Mein
Daag Jigar Ka Saaf Kiya Re
Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya

Daag Piya Ho Daag Piya
Meri Chundari Mein Lagya Daag Piya

Leave a Reply