मेरी जान तिरंगा है मेरी शान तिरंगा है

मेरी जान तिरंगा है मेरी शान तिरंगा है
सारे भारत वासीयो का तिरंगा है

अपने सिर को कटा के फिर भी
मा के सिर को ना झुकने दिया
सीने पर गोली भी खाई
पर ना कदम को रुकने दिया
जिंदा जमी पर गाड़ दिया
जिसने लिया पंगा है

मेरी जान तिरंगा है मेरी शान तिरंगा है
सारे भारत वासीयो का तिरंगा है

आबरू भारत मा की नीलम ना कभी ना होने दिया
जहा जरूरत पड़ी वाहा लहू अपना बहा दिया
खून की नादिया बहा दी जैसे बह रही गंगा है

मेरी जान तिरंगा है मेरी शान तिरंगा है
सारे भारत वासीयो का तिरंगा है

बम गोली कितने बरसाओ कभी नही ये डरते है
बरफ की चादर में ये रहते है कभी नही ये जमते है
गगन दीप भी भारत मा के रंग में रंगा है

Meri Jaan Tiranga Hai
Meri Shaan Tiranga Hai
Saare Bharat Vasiyo Ka Tiranga Hai

Apne Sir Ko Kata Ke Phir Bhi
Maa Ke Sir Ko Na Jhukne Diya
Seene Par Goli BHi Khayi
Par Na Kadam Ko Rukne Diya
Jinda Jami Par Gaad Diya
Jisne Liya Panga Hai

Meri Jaan Tiranga Hai
Meri Shaan Tiranga Hai
Saare Bharat Vasiyo Ka Tiranga Hai

Abroo Bharat Maa Ki Nilam Na
Kabhi Na Hone Diya
Jaha Jarooat Padi Vaha
Lahoo Apna Baha Diya
Khoon Ki Nadiya Baha Di
Jaise Bah Rahi Ganga Hai

Meri Jaan Tiranga Hai
Meri Shaan Tiranga Hai

Bam Goli Kitne Barsao
Kabhi Nahi Ye Darte Hai
Baraf Ki Chadar Mein Ye Rehte Hai
Kabhi Nahi Ye Jamte Hai
Gagan Deep Bhi Bharat Maa
Ke Rang Mein Ranga Hai

This Post Has One Comment

Leave a Reply