मेरे दिल में राधा तू ही रेहती है

श्याम सवेरे मुझसे मुरली कहती है
मेरे दिल में राधा तू ही रेहती है,
तू दिल में रहती है

याहा भी जाऊ राधे राधे मेहलो में या उपवन में
मोर की कल्की राधे राधे राधे राधे हो मन में
यमुना की लेहरे भी मुझसे केहती है,
मेरे दिल में राधा तू ही रहती है

गईया चराऊ राधे राधे पंशी मुझसे केहते है
राधा नाम के सगर में तो कितने कन्हियाँ रेहते है
प्यार की धारा नस नस में यु बेहती है,
मेरे दिल में राधा तू ही रहती है

ग्वाल बाल और सारी गोपियाँ राधा मुझे सताती है
राधा राधा केह के क्यों इतना तडपाती है,
मेरी धडकन कितना कुछ यु सेहती है,
मेरे दिल में राधा तू ही रहती है

Shyam Savere Mujhse Murali Kahati Hai
Mere Dil Mein Radha Tu Hi Rehati Hai
Tu Dil Mein Rahati Hai

Yaha Bhi Jau Radhe Radhe Mehalo Mein Ya Upavan Mein
Mor Ki Kalki Radhe Radhe Radhe Radhe Ho Man Mein
Yamuna Ki Lehare Bhi Mujhse Kehati Hai
Mere Dil Mein Radha Tu Hi Rehati Hai

Gaiya Charau Radhe Radhe Panshi Mujhse Kehate Hai
Radha Nam Ke Sagar Mein To Kitane Kanhiyan Rehate Hai
Pyar Ki Dhara Nas Nas Mein Yu Behati Hai
Mere Dil Mein Radha Tu Hi Rahati Hai

Gval Bal Aur Sari Gopiyan Radha Mujhe Satati Hai
Radha Radha Keh Ke Kyon Itana Tadapati Hai
Meri Dhadakan Kitana Kuchh Yu Sehati Hai
Mere Dil Mein Radha Tu Hi Rahati Hai

Leave a Reply