मेरे बांके बिहारी नन्दलाल मोहना

श्री राधे……. श्री राधे
मेरे बांके बिहारी नन्दलाल मोहन
तो पे वारी वारी जाऊं मेरे श्याम सोहना
मेरे बांके बिहारी……………..

सिर पर सोना मुकुट बिराजे गाल वैजयंती माला साजे
तेरे दर्शन पाऊं हर बार मोहना
तो पे वारी वारी जाऊं मेरे श्याम सोहना
मेरे बांके बिहारी……………..

वृंदावन ब्रज की राजधानी जहाँ बेस ठाकुर ठकुरानी
वृन्दावन पाऊं निज वास मोहना
तो पे वारी वारी जाऊं मेरे श्याम सोहना
मेरे बांके बिहारी……………..

कुञ्ज बिहारी श्री हर दासी करुणा कर दो श्याम ज़रा सी
तेरा हेमंत गाये गुणगान मोहना
तो पे वारी वारी जाऊं मेरे श्याम सोहना
मेरे बांके बिहारी……………..

This Post Has One Comment

Leave a Reply