मेरे हनुमान जी का दिल

सभी देवों से सुंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल,
सिया रघुवर का मंदिर है,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

सिया के पास लंका में,
समुद्र लांघ कर पहुंचा,
यह उड़ने में सिकंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

पीला संजीवनी बूटी,
बचाए राम लक्ष्मण के,
यह नेकी का समुंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

पूरी पाताल में जाकर,
असुर अहिरावण हन डाला,
यह लड़ने में धुरंधर है,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

अनाड़ी सच कहे सागर,
ना मानो आपकी मर्जी,
यह कलियों से भी सुंदर है,
मेरे हनुमान जी का दिल।।

Leave a Reply