मैंनू खिच के लियाया तेरा प्यार वे

मैंनू खिच के, लियाया तेरा प्यार वे,
जंगला च, रैहन वालिया ॥
आई छडड के मैं, सारा संसार वे ll
जंगला च, रैहन वालिया
मैंनू खिच के, लियाया,,,,,,,,,,,,,

आया जदों चेत मेरा, चित नईयो लगदा
तक्क तस्वीर तेरी, दिल नईयो रज्जदा ॥
बाटा लम्मीयां, मेरे करतार वे ll
जंगला च, रैहन वालिया
मैंनू खिच के, लियाया,,,,,,,,,,,,,

मन होवे मोर मेरा, जोगीया सवार होवे
गुफा मोहरें पैलां पाँवा, खड़ी सरकार होवे ॥
मेरे ठाकुरा तूँ, ठोकरां ना मार वे ll
जंगला च, रैहन वालिया
मैंनू खिच के, लियाया,,,,,,,,,,,,,जय बाबे दी

किवें मैं मनावाँ तैंनू, केहडी़ तदवीज करां
गुफा दिया वासीयाँ मैं, केहड़ी केहड़ी रीझ करां ॥
आवे पत्त्झड़, फिर बहार वे ll
जंगला च, रैहन वालिया
मैंनू खिच के, लियाया,,,,,,,,,,,,,

मेरे नालों वद्ध कई, लाडले हजार तैंनू
तेरे नालो वद्ध कोई, लाडला ना यार मैंनू ॥
किते झातियाँ, गूलाम वल मार वे
जंगला च, रैहन वालिया
मैंनू खिच के, लियाया,,,,,,,

Leave a Reply