मैंने मेहंदीपुर में पूरे धाम के दर्शन करके आना

मने सपना आया रात बलमजी बालाजी ने जाना,
मैंने मेहंदीपुर में पूरे धाम के दर्शन करके आना।।

जे संगत मेरी चलेगा जो तेरा भला करेंगे रामजी,
भैरव देखिंगे बनवा दू तेरे कामजी,
जल्दी होजा तैयार बलमजी मत न देर लगाना,
मैंने मेहंदीपुर में पूरे धाम के दर्शन करके आना।।

पहाड़ा ऊपर बैठी मेरी कला देवी माई से,
पांच की मुखी बालाजी दिल के बीच समायी से,
बालाजी की मूरत दिल के बीच समायी से,
श्री प्रेत राज और कोड रानी की मिलके धोक लगाना,
मैंने मेहंदीपुर में पूरे धाम के दर्शन करके आना।।

गाडी घूमना सुनले बलमजी पलवल,
लिख लिख के क्यों रार करावे सुनले उत्तम छोकर तू,
प्रियंका के सामने तेरा चले ना इब बहाना,
खुश होक बलमजी तू भी गए बालाजी का गाना,
मैंने मेहंदीपुर में पूरे धाम के दर्शन करके आना।।

Leave a Reply