मैंने संवारे जब तेरा नाम ले लिया

मैंने संवारे जब तेरा नाम ले लिया,
कान्हा तेरा नाम चढ़े जैसे जाम
मैंने याम आठो याम पी लियां
मैंने संवारे जब तेरा नाम ले लिया,
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे गोविन्द हरे कृष्णा
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे गोविन्द हरे कृष्णा

सैकड़ो हाथीयो सी मस्ती चड़ने लगी
बीन कानो में नागो की बजने लगी
शंखो का नाद मस्तक में भरने लगा
नाम रस से होठो मेरे झरने लगा झरने लगा
नशा में झूमती तुमसे प्यार जो किया
मैंने संवारे जब तेरा नाम ले लिया,
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे गोविन्द हरे कृष्णा
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे गोविन्द हरे कृष्णा

बाँध दे कोई पैरो में घुंगरू मेरे
राधा बन नाचू दिल मेरा केहने लगे
श्याम रंग चुनर सिर पे ओहदा दो जरा
आजा अब सामाने ये मन तुझमे धरा
सुन ले जरा तू ही तू मेरा पिया
मैंने संवारे जब तेरा नाम ले लिया,
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे गोविन्द हरे कृष्णा
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे गोविन्द हरे कृष्णा

भर ली सूरत तेरी दिल में मेरे पिया
आँखों को मुंद कर ताला यु झड़ लिया
सांसो की चाभी हाथो में तेरे धरी
जब तक चाहे गा तू मैं रहूगी खड़ी
ये जान ले मैंने फेंसला ये ले लिया
मैंने संवारे जब तेरा नाम ले लिया,

Leave a Reply